प्रायोजित

किरण नादर म्यूजियम ऑफ़ आर्ट की ‘City Tales’ कला के नज़रिये से आपके शहर की कहानी है

प्रायोजित

Kiran Nadar Museum Of Art

September 28, 2020

SHARES

शहर किसे कहते है? इसका जवाब वहां रह रहे लोगों के नज़रिये, सपने,यादों, सफलताओं और असफ़लतों की कहानी से जुड़ा होता है। एक शहर में जितने लोग, उतनी उसकी परिभाषा। जिस शहर को हम उसके गली-कूचों, अतीत की कहानियों के साथ-साथ बढ़ते हुए सपनों और आकांक्षाओं की कहानियों में देखते हैं, ये कई बार उससे भी कहीं ज़्यादा होती है। अभी के समय में जब अपने ही शहर में हमें कुछ अनचाहे बंदिशों के साथ रहना पड़ रहा है, तब शायद अपने घर की चारदीवारों में क़ैद रह कर हम शहर को बाहर से बदलता नहीं देख पा रहे। सन्नाटे से भरी सड़कें, शांत बाज़ार, मायूस से पार्क, रात में अकेले खड़ी स्ट्रीट लाइटें, उदास बैठे फुटपाथ। ऐसी न जानें कितनी तस्वीरें होती है एक शहर की जो हम अपनी आँखों से देख नहीं पाते।

हमारा शहर हर वक़्त बलदता रहता है, उसके शुरआत की कहानी से उसके भविष्य की महत्वकांक्षा ये सब उसकी आवाज़ में छिपी होती है। मगर उसकी इस कहानी को हमने कभी सुनने की कोशिश की है? कभी सोचा है कि शहर के एक कोने में बच्चों और बुज़ुर्ग के लिए बनी उस पार्क की क्या कहानी है? वो फुटपाथ जहाँ कई सारे छोटे मोटे व्यापारी अपनी दूकान लगा कर अपने परिवार को पालते हैं उस निर्जीव फुटपाथ के बगैर उनका क्या होगा? वो चौराहा जो ज़िन्दगी में आगे बढ़ रहे हर इंसान को उसे एक नया रास्ता दिखाता है उसने अपने अंदर कितनी सारी कहानियां संजोये रखी है? इन्हीं अनसुनी कहानियों, किस्सों और नज़रिये को आप तक लाने की कोशिश कर रही है CityTales, जो कि  किरण नादर म्यूजियम ऑफ़ आर्ट (KNMA) की तरफ से शुरू की गयी एक ऑनलाइन एग्जीबिशन है जहाँ आप एक शहर की परिदृश्य में समय-समय पर आये कलात्मक बदलाव को देख पाएंगे।

 

 

इस बदलते समय में जब हमने अपने घर से बाहर निकलने की आज़ादी को ज़रूरत की बेड़ियों से बाँध दिया है तब KNMA ने एक पहल, एक कोशिश की है जहाँ शहर की सुंदरता उसके किस्से कहानियों को देखने का नया नजरिया दिया है। जहां पर आप ठहरकर उस शहर को देख भी सकें और महसूस भी कर सकें। City Tales  एक शहर के फर्श से अर्श तक के सफर को दर्शाती है। वो सफर जहाँ कुछ उसके सुखद अनुभव भी है और कुछ भीगी यादें भी, और उसकी इन्हीं कहानियों को हम कला के ज़रिये ही समझ सकते हैं। इसके लिए अगर किसी एक चीज़ की ज़रूरत है तो वो है बदलते नज़रिये की – एक अलग फ्रेम ऑफ़ माइंड की।

 

 

City Tales कला प्रदर्शनी KNMA द्वारा तैयार एक वैकल्पिक मंच है जहाँ कला से जुड़े 21 कलाकारों ने अपनी कलाओं को अलग अलग थीम जैसे जंकस्पेस-आर्काइव, द अर्बन ड्रीम्सस्केप, रुइन्स ऑफ़ द सिटी जैसे विषयों में बखूबी पिरोया है।

 

 

ये कला प्रदर्शनी एक कोशिश है जहाँ कला के माध्यम से आपको अपने शहर को देखने का नया नजरिया मिले। #FrameOfMind उसी नज़रिये को प्रोत्साहित और विस्तृत बनाने की एक पहल है। City Tales अपनी ही तरह का पहला अनुभव है, जब आप अपने घर के अंदर से अपने शहर की बदलती तस्वीरों और उन तस्वीरों में छुपी कहानियों को देख पाते हैं। तर्कसंगत इस कदम की सराहना करता है जहाँ किरण नादर म्यूजियम ऑफ़ आर्ट (KNMA) ने एक आम शहरी तक उसके शहर की कहानियों को कला की दृष्टि से दिखाने की कोशिश की है। वो कहानियॉं जो हम उसी शहर की शोर में नहीं सुनते, अपनी चकाचौंध में नहीं देखते। कला और कहानी का ये अद्भुत संगम हमें निश्चित तौर पर हमारे ज़ेहन में शहर की परिभाषा को एक नया आयाम देने में मदद करता है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...