ख़बरें

ओडिशा के जगन्नाथ मंदिर के 400 से अधिक पुजारी कोरोना संक्रमित, 9 की मौत

तर्कसंगत

Image Credits: Prabhasakshi

September 29, 2020

SHARES

ओडिशा के पुरी स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर के 400 से अधिक पुजारी और अधिकारी कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं. राज्य सरकार ने हाई कोर्ट को बताया है कि मौजूदा हालात को देखते हुए धार्मिक स्थलों को खोलने की तैयारी अभी नहीं है. कोरोना महामारी के चलते ये धार्मिक स्थल मार्च महीने से ही भक्तों के लिए बंद हैं.

यह जानकारी ऐसे समय सामने आई है, जब मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए खोलने की मांग जोर पकड़ रही है. गौरतलब है कि कोरोना संकट के चलते पिछले कुछ महीनों से देश के लगभग सभी बड़े धार्मिक स्थलों के खुलने पर कई तरह की पाबंदियां जारी हैं.

मंदिर खोलने से संक्रमण का खतरा ज़्यादा

राज्य सरकार ने एक पीआईएल पर ओडिशा हाई कोर्ट की ओर से जारी नोटिस का जवाब दिया. सरकार का कहना है कि ‘पुरी में जगन्नाथ मंदिर के गर्भगृह में पर्याप्त जगह नहीं है. ऐसे अगर भक्तों के लिए मंदिर को खोला गया तो कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ने की संभावना है.’

राज्य सरकार की ओर से दायर हलफनामे के मुताबिक, अबतक जगन्नाथ मंदिर के 351 सेवादार और 53 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से कई पीड़ितों की मौत भी हुई है जिनमें टेंपल मैनेजमेंट कमिटी के सदस्य प्रेमानंद दशमोहापात्र भी शामिल हैं.

इंडिया टुडे  के मुताबिक श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन के प्रशासक अजय कुमार जैना ने बताया कि लगभग 400 संक्रमितों में नौ लोगों की मौत हो गई है और 16 का भुवनेश्वर के अस्पताल में इलाज चल रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, संक्रमित पाए गए अधिकतर पुजारी होम आइसोलेशन में हैं इसलिए पूजा करने में भी पुजारियों की कमी पड़ रही है.

अधिकतर पुजारी चाहते हैं कि नवंबर के आखिर से पहले मंदिर न खोला जाए. उन्हेें अपने परिवार के लोगों की चिंता सता रही है. हालांकि, उनका कहना है कि मंदिर की पूजा किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हो रही है. जैसे-जैसे मंदिर के सेवादार कोरोना से संक्रमित होते जा रहे हैं, वैसे ही भगवान के विभिन्न अनुष्ठानों की करने वालों की कमी होती जा रही है. एक पुजारी ने कहा, “कई महासर, दैतापति और पूजपांडस संक्रमित हुए हैं. बावजूद इसके मंदिर के सभी अनुष्ठान नियमीत रूप से जारी हैं. अगर मंदिर को लोगों के लिए खोल दिया जाएगा तो हालात और अधिक बिगड़ सकते हैं.”

पुरी जिला प्रशासन मंदिर के आसपास के क्षेत्र में हर किसी के लिए मास्क अनिवार्य करके कोविड-19 के दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करेगा.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...