ख़बरें

उत्तर प्रदेश में दलित बुज़ुर्ग के साथ मारपीट, पेशाब पीने के लिए किया मजबूर

तर्कसंगत

Image Credits: ANI/Twitter

October 13, 2020

SHARES

उत्तर प्रदेश के ललितपुर में दलित उत्पीड़न की एक शर्मानक वारदात सामने आई है। यहां कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत ग्राम रौंड़ा में 65 साल के बुजुर्ग को बेरहमी से पीटा गया। इतना ही नहीं, उसे जातिसूचक शब्द कहकर अपमानित किया गया और कप में पेशाब भरकर उसे पीने पर मजबूर किया गया। पीड़ित ने मामले में पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है और मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

 

मामला क्या है?

मामला ललितपुर के कोतवाली थाने के अंतर्गत आने वाले रौंड़ा गांव का है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी सोनू यादव ने 65 वर्षीय अमर के बेटे चऊवा पर कुछ दिन पहले कुल्हाडी से हमला किया था और उन्होंने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

आरोपी पीड़ित परिवार पर लगातार शिकायत वापस लेने का दबाव डाल रहा था और इसी क्रम में रविवार को उसने अपने एक साथी के साथ उन पर हमला कर दिया।

 

यहाँ पर रहने वाले अमर और चऊवा कोतवाली पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि 11 अक्तूबर को शाम साढ़े सात बजे गांव के ही हनुमत अहिरवार की दुकान से बीड़ी खरीदने गए थे। उसी दौरान वहां गांव के सोनू यादव, नरेंद्र उर्फ छोटू आ गए। शिकायत के अनुसार, पहले तो सोनू और नरेंद्र ने उन्हें अपशब्द और जातिसूचक शब्द कहे और फिर डंडों से हमला कर दिया। अमर के अनुसार, इसी दौरान आरोपियों ने उस पर पेशाब पीने का दबाव बनाया।अपनी शिकायत में अमर ने कहा, “सोनू ने मुझे एक कप में अपनी पेशाब भरकर दी और पीने का दबाव बनाया। मना करने पर उसने जबरन मुंह में पेशाब डाल दिया। मैंने विरोध किया तो उसने मुझे लाठियों से पीटना शुरू कर दिया।”

अमर और चऊवा को पिटते देख मोहल्ले के लोगों ने उन्हें बताया जिसके बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मुख्य आरोपी सोनू को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस की कारवाई

पुलिस अधीक्षक मिर्जा मंजर बेग ने पुष्टि की कि रौंड़ा  के कुछ प्रभावशाली लोगों ने दोनों ग्रामीणों की पिटाई की। बेग ने कहा, “मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और इस मामले में शामिल अन्य लोगों की तलाश जारी है। हमने शिकायत मिलने के बाद जल्द ही प्राथमिकी दर्ज कर ली है। हम ऐसी किसी भी धमकी को बर्दाश्त नहीं करेंगे।”

पीड़ितों की शिकायत के आधार पर जातिसूचक शब्द कहने, मारपीट करने, जान से मारने की धमकी देने संबंधी गंभीर धाराओं के तहत FIR दर्ज की गई है। इसके अलावा SC/ST एक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं।

 

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...