सचेत

74 वर्षीय बुज़ुर्ग को अस्पताल से छुट्टी करा कर परिजन फ्रीजर बॉक्स में रख कर रात भर मरने के इंतज़ार कर रहे थे

तर्कसंगत

Image Credits: NDTV

October 14, 2020

SHARES

अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद गंभीर रूप से बीमार 74 वर्षीय वृद्ध को उनके परिजनों ने रातभर फ्रीजर बॉक्स में बंद रखा और उनकी मौत का इंतजार करते रहें। इंसानियत को तार-तार करने वाली यह घटना तमिलनाडु के सेलम जिले में घटी है। एक व्यक्ति की तत्परता से बुजुर्ग को फ्रीजर बॉक्स से निकालकर बचा लिया गया है।

जानकारी के मुताबिक 74 वर्षीय बुजुर्ग की पहचान बाल सुब्रमनिया कुमार के रूप में हुई है। नौकरी से सेवानिवृत्त होने के बाद वह अपने भाई और एक भतीजी के साथ रहते थे। पिछले दिनों तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हाल ही में उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल से छुट्टी मिली थी।

 

फ्रीजर बॉक्स में हांफ रहे थे वृद्ध

पुलिस सूत्रों के अनुसार, वृद्ध के परिजनों ने उन्हें मृत बताते हुए एक एजेंसी से फ्रीजर बॉक्स लिया था। जिसके बाद वृद्ध को पूरी रात बॉक्स में लिटाकर मरने के लिए छोड़ दिया। एजेंसी का कर्मचारी जब बॉक्स वापस लेने आया तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गई। बॉक्स के अंदर पड़े वृद्ध हांफ रहे थे। उसने बुजुर्ग को जीवित देखकर अलार्म बजाया और तत्परता के साथ उन्हें अस्पताल पहुंचाया। वहां उनका इलाज चल रहा है।

शवों के लिए मुफ्त वाहन उपलब्ध कराने वाले देवलिंगम भी उस वक्त घटनास्थल पर मौजूद थें। जानकारी मिलते ही वह बुजुर्ग के घर के अंदर गए और उन्हें जीवित पाया। देवलिंगम के अनुसार “बुजुर्ग को पूरी रात फ्रीजर बॉक्स के अंदर रखा गया। उसने बताया कि मुझे परिवार ने कहा था – ‘बुजुर्ग की मौत हो चुकी है और उनके अंदर अब जान नहीं बची है। ‘

घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय थाने की पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस के अनुसार वृद्ध के परिजनों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के अनुसार बुजुर्ग एक निजी कंपनी से स्टोर कीपर के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे। वो अपने भाई और एक भतीजी के साथ रहते हैं. परिवार के खिलाफ पुलिस ने अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज किया है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...