ख़बरें

क्या आज के समय में कोई व्यक्ति 1400 किमी साइकिल चला कर गिरफ्तार होने जायेगा? देखिये वीडियो

तर्कसंगत

October 14, 2020

SHARES

अपराध की दुनिया में ऐसे मामले दुनिया में कभी-कभार ही देखने-सुनने को मिलता होगा. ये कहानी इतनी दिलचस्प है कि आपको भी हैरत में डाल देगी. मामला मध्य प्रदेश के उज्जैन ज़िले का है. वहां एक व्यक्ति अपनी गिरफ़्तारी देने के लिए सैकड़ों किलोमीटर साइकिल चलाकर पहुंचा. मुकेश नामक ये युवक जब नागझिरी थाने पहुंचा तो पुलिस ने पहले उसे माला पहनाई और फिर जेल भेज दिया.

यह कहानी इतनी दिलचस्प है कि पूरी पढ़ने के बाद आप भी सोचेंगे, कहीं ऐसा भी होता है! नवभारत टाइम्स के अनुसार, उज्जैन के नागझिरी इलाके के रहने वाले रामचंद्र लोहार के बेटे मुकेश पर साल 2014 में अपने किसी रिश्तेदार के साथ मारपीट का आरोप लगा था. इस मामले में पुलिस ने उसके खिलाफ केस भी दर्ज कर ली थी. लेकिन उस वक्त मामला ज्यादा आगे नहीं बढ़ा. इस बीच, मुकेश ने बिहार के सीतामढ़ी जिले की एक युवती के साथ शादी कर ली और फिर सीतामढ़ी में ही बस गया. इधर उज्जैन में दर्ज एफआईआर के मामले में कोर्ट से मुकेश के खिलाफ वारंट जारी हो गया.

उज्जैन पुलिस ने जब मुकेश को गिरफ्तार करने के लिए छानबीन की तो पता चला कि वह अब बिहार में रहता है. मुकेश मूलतः आगर ज़िले के नलखेड़ा का निवासी है.

 

पुलिस ने फोन पर दी वारंट की जानकारी

पुलिस ने किसी तरह मुकेश का मोबाइल नंबर पता करके उसे कॉल किया. पुलिस ने जब मुकेश को बताया कि कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है, तो पहले तो वह घबरा गया. लेकिन पुलिस ने उसे समझाया कि अगर वह यहां आकर खुद पेश हो जाएगा तो मामला जल्दी सुलझ जाएगा.

 

1400 किमी साइकिल चलाकर पहुंचा

पुलिस के समझाने पर उसने उज्जैन आकर समर्पण करने का फैसला किया. लेकिन मुकेश को सीतामढ़ी से उज्जैन आने के किए कोई सीधी ट्रेन या बस नहीं मिली. पैसों की तंगी भी थी. इन हालात में उसने साइकिल से ही उज्जैन आने का मन बनाया और निकल पड़ा. मुकेश को सीतामढ़ी से उज्जैन आने में कुल दो हफ्ते का समय लगा. इस दौरान उसने तकरीबन 1400 किलोमीटर का सफर तय किया.

साइकिल से उज्जैन आते वक्त मुकेश के पैसे भी खत्म हो गए. आखिरकार गुरुवार को वह जब उज्जैन के नागझिरी थाने पहुंचा तो पुलिसकर्मी उसे देखकर हैरान रह गए. उसकी पूरी आपबीती सुनने के बाद पुलिसकर्मी इतने प्रभावित हुए कि फूलों का हार पहनाकर उसका अभिनंदन किया और उसके साथ तस्वीरें भी खिंचवाई.

फिलहाल उसे कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया था. नागझिरी थाना प्रभारी संजय वर्मा ने बताया कि वाकई एक आरोपी का कानून के प्रति सम्मान और विश्वास प्रेरणा देने वाला है. जब मुकेश को स्थायी वारंट की सूचना दी और समझाया तो उसने बगैर किसी बहाने हाजिर होने का वादा किया और वह आश्चर्यजनक ढंग से 1400 किमी का सफर तय कर दो सप्ताह में थाना में पहुंच गया. उसकी इस निष्ठा को देख हमने उसका पुष्प माला पहनाकर सम्मान किया. अब मुकेश की जमानत हो गई है और प्रकरण का भी निदान हो गया है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...