ख़बरें

मध्यप्रदेश में रक्षक ही भक्षक: थाने में पुलिस पर महिला क़ैदी के साथ दस दिन तक बलात्कार का आरोप

तर्कसंगत

October 19, 2020

SHARES

मध्यप्रदेश के रीवा जिले में पांच पुलिस कर्मियों द्वारा 20 वर्षीय एक महिला को कथित तौर पर एक लॉक-अप में रखा गया था जहाँ उसके साथ 10 दिनों तक बलात्कार किया गया था। द टाइम्स ऑफ इंडिया ने बताया कि महिला ने आरोप लगाया है कि थाना प्रभारी सहित पांच पुलिसकर्मियों ने मई में रीवा के मंगावन में 10 दिनों के लिए लॉक-अप में उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

महिला हत्या के मामले में आरोपी है और अब उसे जेल में हिरासत में रखा गया है। मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिये जा चुके हैं।

जेल निरीक्षण के दौरान खुली बात

10 अक्टूबर को जब अतिरिक्त जिला जज और वकीलों की एक टीम जेल का निरीक्षण करने गई तब महिला ने उन्हें आपबीती बताई। इसके बाद जज ने न्यायिक जांच के आदेश दिया और रीवा के पुलिस अधीक्षक (SP) राकेश सिंह को पत्र लिखकर कार्रवाई करने को कहा। महिला का आरोप है कि उसके 9-21 मई के बीच रेप किया गया। वहीं पुलिस का कहना है कि महिला को 21 मई को गिरफ्तार किया गया था।

महिला ने जेल में निरीक्षण को गई कानूनी टीम को बताया कि उसे हवालात में रखा गया और थाना इंचार्ज समेत पांच लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया। एक महिला कॉन्स्टेबल ने इसका विरोध किया था, लेकिन अधिकारियों ने उसे चुप करा दिया। टीम में शामिल एक वकील सतीश मिश्रा ने कहा, “जब हमने पूछा कि उसने पहले इस घटना की शिकायत क्यों नहीं कि तो महिला ने कहा कि उसने तीन महीने पहले वार्डन को इसकी जानकारी दी थी।”

जांच के आदेश

बाद में वार्डन ने भी यह बात स्वीकार की कि महिला ने मई में अपने साथ हुए रेप की जानकारी दी थी। जिला जज के सामने पीड़ित महिला के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए जा चुके हैं।उधर SP को भी जज की तरफ से पत्र लिखकर मामले की कार्रवाई करने को कहा गया है। SP ने यह पत्र मिलने की पुष्टि की है।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...