ख़बरें

कोरोना ने छीन ली मजदूर के इंजीनियर बेटे की नौकरी, कड़े संघर्षों के बाद कलेक्टर ने दिलाई नौकरी

तर्कसंगत

October 26, 2020

SHARES

बैष्णब बेरिया ने बेटे अनंता को इंजीनियरिंग कॉलेज (Engineering college) में पढ़ने के लिए भेजा ताकि वह उनकी तरह मजदूरी का काम ना करे बीटेक (B.Tech) की डिग्री हासिल  कर अनंता  चेन्नई (Chennai) की एक कंपनी में सहायक इंजीनियर की नौकरी करने लगे। लेकिन इस माहवारी की वजह से 23 साल के अनंता अब ओडिशा में अपने पिता के साथ मजदूरी (Labour) कर रहे हैं।

कोरोना की वजह से  सरकार द्वारा किए गए लॉकडाउन में अनंता की नौकरी चली गई। जिसके बाद उन्हें 15 हज़ार की नौकरी छोड़ 207 रुपये प्रति माह दिन के हिसाब से काम करना पड़ रहा है। लेकिन अनंता की किस्मत  ने एक नया मोड़ तब लिया जब महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत होने वाले कामों का निरीक्षण करने के लिए बोलंगीर कलेक्टर चंचल राणा मंगलवार को जुरालाकनी गांव पहुंचे।

राणा ने गुरुवार को ‘द टेलीग्राफ’ को बताया, “जब मैंने श्रमिकों की संख्या का पता लगाने के लिए मस्टर रोल की जांच की  तो इस मुझे युवा लड़के के बारे में पता चला और उससे बात करने के बाद मैं काफी प्रभावित हुआ, उसकी योग्यता के बारे में पूछताछ करने पर या पता चला  की उसने इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर बीटेक की डिग्री हासिल कर रखी है और इस महामारी की वजह से उसकी नौकरी चली गई है। मैंने अगले दिन उन्हें बोलंगीर में अपने कार्यालय में बुलाया।

बुधवार को, अनंता भुवनेश्वर से 320 किमी दूर बोलंगीर जिला मुख्यालय पहुंचे। जहां  कलेक्टर ने उन्हें सरकारी नौकरी देने की बात कही। उन्होंने कहा, ‘हमने उन्हें जिला मुख्यालय में मनरेगा सेल (जो सभी ग्रामीण नौकरी योजना परियोजनाओं और श्रमिकों के रिकॉर्ड का रखरखाव रखता है) में श्री, नौकरी देने का  फैसला किया है। राणा ने कहा कि अब उन्हें 10,000 रुपये से लेकर 12,000 रुपये प्रति माह मिलेंगे।

कलेक्टर ने कहा “हम यह स्पष्ट कर देंगे कि यह उसकी वर्तमान वित्तीय समस्याओं से निपटने के लिए एक अस्थायी व्यवस्था है। उसे अब अपने सपनों को , हकीकत में बदलने  के लिए काम करना चाहिए। वह आगे की पढ़ाई भी कर सकता है, ताकि  परिस्थिति के  सही हो जाने के बाद वह एक अच्छी नौकरी कर सके। 

अनंता के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए और उसकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई बर्बाद न हो , उसके लिए मैं उसकी हर प्रकार से मदद करूंगा |

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...