ख़बरें

रूस-यूक्रेन जंग का 38वां दिन- यूक्रेन का दावा कीव पर रूस का कब्जा खत्म, रूसी सेना का मारियूपोल पर पूरी तरह कब्जा

Nishant Kumar

April 2, 2022

SHARES

रूस और यूक्रेन जंग का आज 38वां दिन है. इन 38 दिनों में रूस ने लगातार हमले से यूक्रेन के कई बड़े शहरों को पूरी तरह तबाह कर दिया है. ओडेसा शहर के गवर्नर मैक्सिम मार्चेंको ने जानकारी देते हुए कहा कि ओडेसा के रिहायशी इलाके में रूस ने तीन मिलाइलें दागी हैं जिसमें कई लोगों के घायल होने की आशंका है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूक्रेनी बलों ने कीव के पास बोरोदियांका और बुका शहर को रूसी सेना के कब्जे से मुक्त करा लिया है। वहीं यूक्रेन का दावा है कि कीव पर रूस का कब्जा खत्म हो गया है. पूरे शहर से रूसी सेना जा चुकी है.

यूक्रेन डिफेंस मिनिस्ट्री के प्रवक्ता कर्नल ऑलेक्जेंडर मोटुज्यानिक ने कहा- दुश्मन अपने काफिले, अपने वाहनों को ले जाते समय यूक्रेनी बच्चों को ह्यूमन शील्ड के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। रूस के सैनिक बच्चों को इसलिए बंधक बना रहे हैं ताकि उनके माता-पिता यूक्रेनी सैनिकों को दुश्मनों की मूवमेंटिस के बारे में जानकारी न दे सकें।

अमेरिकी रक्षा विभाग यूक्रेन को सुरक्षा सहायता के रूप में अतिरिक्त 300 मिलियन डॉलर प्रदान करेगा. इससे पहले बाइडेन सरकार ने पिछले हफ्ते यूक्रेन को 35 करोड़ डॉलर के सैन्य उपकरणों को अधिकृत किया था जो अमेरिकी इतिहास में इस तरह का सबसे बड़ा पैकेज है. अमेरिका ने इल बात की आशंका जताई है कि यूक्रेन पर रूस केमिकल अटैक कर सकता है. ऐसे में यूएस की ओर से यूक्रेन को केमिकल हथियार महैया कराए जाएंगे.

रिपोर्टस के अनुसार रूसी सेना का मारियूपोल पर पूरी तरह कब्जा हो चुका है, ऐसे में वहां मौजूद नागरिकों की सुरक्षा बड़ी चुनौती बन गई है. जबकी यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने दावा किया है कि मारियूपोल से अभी तक 3000 से ज्यादा यूक्रेनी नागरिकों को रेस्क्यू कर लिया गया है.

इस जंग में यूनेस्को का दावा है कि अब तक यूक्रेन की 53 ऐतिहासिक इमारतें पूरी तरह तबाह हो चुकी हैं। जिसमें 29 धार्मिक स्थल, 16 ऐतिहासिक इमारतें, चार स्मारक व चार संग्रहालयों को नुकसान पहुंचा है।

इस जंग में कई लोग मारे जा रहे हैं, काफी लोग अपना- अपना घर छोड़ पड़ोसी देशों में पालयन कर रहे हैं. वहीं दूसरे देशों में शरण लेने वालों की संख्या में भी काफी इजाफा हो रहा है. लगभग लाखों लोग अपना घर छोड़ पड़ोसी देशों में शरण ले चुके हैं। यूक्रेन का दावा है कि अब तक रूस के 17,700 सैनिक मारे जा चुके हैं, और 143 फाइटर प्लेन और 625 टैंक भी तबाह हो चुके हैं। इस में जंग में दोनों देश की सेना के साथ आम लोगों को भी जान जा रही है। यूक्रेन ने बताया की रूसी हमले में अब तक 153 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 245 से ज्यादा बच्चे घायल हुए हैं।

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...