BJP MLA T Raja Singh, Asaduddin Owaisi, KCR, Hyderabad News, Prophet Mohammad, Prophet Muhammad, Prophet Mohammad News

ख़बरें

टीराजा ने जारी किया नया वीडियो, तेलंगाना पुलिस को बताया ओवैसी के हाथ की कठपुतली

Nishant Kumar

नई दिल्ली: पैगम्बर मोहम्मद (Prophet Mohammad) पर आपत्तिजनक बयान को लेकर बीजेपी नेता टी राजा सिंह ( MLA T Raja Singh) को एक बार फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है. इससे पहले टी राजा ने गुरुवार को एक वीडियो जारी करके राज्य में सांप्रदायिक माहौल को लेकर कई बातें कहीं. अपने वीडियोन में राजा सिंह ने एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी, सरकार में मंत्री केटी रामाराव और महमूद अली पर जमकर निशाना साधा.

बीजेपी के निलंबित नेता राजा सिंह ने कहा कि राज्य में सांप्रदायिक माहौल खराब करने के जिम्मेदार AIMIM नेता ओवैसी, मंत्री केटी रामाराव के अलावा महमूद अली भी हैं. इसके साथ ही टी राजा ने कहा कि तेलंगाना की पुलिस ओवैसी के हाथ की कठपुतली है. टी राजा ने इनके अलावा स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी पर भी निशाना साधा.

अपने वीडियो में टी राजा ने कहा कि राज्य की पुलिस ओवैसी की पपेट है और ओवैसी के समर्थकों को पत्थर फेंकने की पूरी छूट मिली हुई है. पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी का जिक्र करते हुए उन्होंने अपने वीडियो में प्रदर्शन कारियों पर पूजा स्थलों और मंदिरों को निशाना बनाने का आरोप लगाया.

पैगंबर मोहम्मद पर टी राजा की विवादित टिप्पणी के बाद देश में एक बार फिर से सांप्रदायिक तनाव बना हुआ है और उनकी टिप्पणी के बाद बीजेपी ने सख्त कदम उठाते हुए उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया. विवादित टिप्पणी के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में कोर्ट ने उन्हें इस शर्त पर जमानत दे दी थी कि वे आगे से इस तरह के मुद्दों पर वीडियो न बनाएं.

हालांकि उन्होंने कोर्ट के मना करने के बावजूद दोबारा ऐसा वीडियो बनाया. अपने वीडियो में उन्होंने सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने के पीछे कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को जिम्मेदार ठहराया जबकि मंत्री केटीआर को फारूकी को हैदराबाद में आमंत्रित करने के लिए जिम्मेदार ठहराया, जहां एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर फारूकी ने भगवान राम और माता सीता का अपमान किया था.

उन्होंने अपने वीडियो में कहा कि उन्होंने तीन महीने पहले फारूकी के कार्यक्रम का विरोध भी किया था और इसे लेकर वे पुलिस के पास भी गए थे. पुलिस से उन्होंने उसके कार्यक्रम को रद्द करने की मांग भी की थी. उन्होंने कहा कि उन्हें तेलंगााना में सांप्रदायिक तनाव के पीछे का जो सही कारण है उसे बताने के लिए मजबूर किया गया.

August 25, 2022

SHARES

नई दिल्ली: पैगम्बर मोहम्मद (Prophet Mohammad) पर आपत्ति जनक बयान को लेकर बीजेपी नेता टी राजा सिंह ( MLA T Raja Singh) को एक बार फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है. इससे पहले टी राजा ने गुरुवार को एक वीडियो जारी करके राज्य में सांप्रदायिक माहौल को लेकर कई बातें कहीं. अपने वीडियो में राजा सिंह ने एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी, सरकार में मंत्री केटी रामाराव और महमूद अली पर जमकर निशाना साधा.

बीजेपी के निलंबित नेता राजा सिंह ने कहा कि राज्य में सांप्रदायिक माहौल खराब करने के जिम्मेदार AIMIM नेता ओवैसी, मंत्री केटी रामाराव के अलावा महमूद अली भी हैं. इसके साथ ही टी राजा ने कहा कि तेलंगाना की पुलिस ओवैसी के हाथ की कठपुतली है. टी राजा ने इनके अलावा स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी पर भी निशाना साधा.

अपने वीडियो में टी राजा ने कहा कि राज्य की पुलिस ओवैसी की पपेट है और ओवैसी के समर्थकों को पत्थर फेंकने की पूरी छूट मिली हुई है. पैगम्बर मोहम्मद के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी का जिक्र करते हुए उन्होंने अपने वीडियो में प्रदर्शन कारियों पर पूजा स्थलों और मंदिरों को निशाना बनाने का आरोप लगाया.

पैगंबर मोहम्मद पर टी राजा की विवादित टिप्पणी के बाद देश में एक बार फिर से सांप्रदायिक तनाव बना हुआ है और उनकी टिप्पणी के बाद बीजेपी ने सख्त कदम उठाते हुए उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया. विवादित टिप्पणी के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में कोर्ट ने उन्हें इस शर्त पर जमानत दे दी थी कि वे आगे से इस तरह के मुद्दों पर वीडियो न बनाएं.

हालांकि उन्होंने कोर्ट के मना करने के बावजूद दोबारा ऐसा वीडियो बनाया. अपने वीडियो में उन्होंने सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने के पीछे कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को जिम्मेदार ठहराया जबकि मंत्री केटीआर को फारूकी को हैदराबाद में आमंत्रित करने के लिए जिम्मेदार ठहराया, जहां एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर फारूकी ने भगवान राम और माता सीता का अपमान किया था.

उन्होंने अपने वीडियो में कहा कि उन्होंने तीन महीने पहले फारूकी के कार्यक्रम का विरोध भी किया था और इसे लेकर वे पुलिस के पास भी गए थे. पुलिस से उन्होंने उसके कार्यक्रम को रद्द करने की मांग भी की थी. उन्होंने कहा कि उन्हें तेलंगााना में सांप्रदायिक तनाव के पीछे का जो सही कारण है उसे बताने के लिए मजबूर किया गया.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...