Terrorist, Jammu Kashmir, Uri Attack, Chinese weapons, infiltrate, Kahmir News, LoC

ख़बरें

उरी में नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश में कर रहे तीन आतंकियों को सेना ने किया ढेर

Nishant Kumar

August 26, 2022

SHARES

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir News) के उरी में नियंत्रण रेखा के पास बृहस्पतिवार को एक घुसपैठ रोधी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया और उनके पास से चीन में निर्मित एक एम-16 राइफलें बरामद की गई है.

सेना ने इस राइफल की बरामदगी को “असामान्य” घटना बताया है. सेना ने कहा कि उरी के कमलकोट क्षेत्र में मारे गए पाकिस्तानी आतंकवादियों के पास से ए के श्रेणी के दो हथियार, एक चीनी एम-16 राइफल और गोलाबारूद बरामद किये गए.

कहा कि सैन्य आसूचना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और जमीनी स्तर पर सेना के अपने स्रोतों सहित विभिन्न माध्यमों से मिली विश्वसनीय जानकारी के बाद अभियान शुरू किया गया था. उन्होंने कहा, “हमने उरी सेक्टर के कमलकोट इलाके में पीओके से घुसपैठ की एक कोशिश को नाकाम कर दिया है, जिसमें तीन विदेशी आतंकियों को मार गिराया गया.

सेना की 19 इन्फेंट्री डिवीजन के प्रमुख मेजर जनरल अजय चांदपुरी ने बारामुला में संवाददाताओं से कहा, “आमतौर पर हमें एके श्रेणी के हथियार मिलते हैं और कभी-कभार एम-4 राइफलें भी बरामद होती हैं. यह एम-16 चीन में निर्मित नौ मिलीमीटर कैलिबर का हथियार है. यह एक असामान्य बात है.”

जीओसी ने कहा कि जिस क्षेत्र में इस अभियान को अंजाम दिया गया वह बेहद चुनौतीपूर्ण था. उन्होंने कहा, “वहां घने झाड़-झंखाड़ थे. वहां काफी अंधेरा था और भारी बारिश हो रही थी. पूरे इलाके में बारुदी सुरंग भी थीं. इस अभियान को अंजाम देते समय जिन चुनौतियों का सामना करना पड़ा उन्हें देखते हुए इसकी सराहना की जा सकती है.”

उन्होंने कहा कि ऐसा कहना जल्दबाजी होगी कि पाकिस्तानी फौज और चीनी सेना के बीच कोई संभावित साठगांठ है. मेजर जनरल चांदपुरी ने कहा, “इसके बड़े परिप्रेक्ष्य को लेकर अटकलें लगाना जल्दबाजी होगी. इसलिए मुझे लगता है कि हमें जांच करने की जरूरत है.”

नियंत्रण रेखा के उस पार स्थित आतंकवादियों की संख्या पर मेजर जनरल चांदपुरी ने कहा कि कई सूत्रों से प्राप्त सूचना के आधार पर, 100-200 आतंकवादी घुसपैठ करने का प्रयास कर रहे हैं और वे नियंत्रण रेखा के पास 15-20 ठिकानों पर मौजूद हैं.

उन्होंने कहा, “संघर्ष विराम से दोनों तरफ के लोगों को फायदा मिला है वहीं, आतंकी ठिकानों पर आतंकवादियों की मौजूदगी और घुसपैठ करने का उनका प्रयास जारी है.”

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...