Jharkhand, Jharkhand mining , Jharkhand mining scam, CM Hemant Soren, ED files chargesheet, money laundering act

ख़बरें

झारखंड माइनिंग स्कैम: ईडी ने फाइल की चार्जशीट, MLA पंकज मिश्रा को बताया स्कैम का ‘किंगपिन’

Nishant Kumar

September 16, 2022

SHARES

रांची: झारखंड के बहुचर्चित माइनिंग स्कैम में ईडी ने रांची स्थित स्पेशल पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट) कोर्ट में लगभग पांच हजार पन्नों में चार्जशीट दाखिल कर दी है. इस मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र बरहेट स्थित उनके प्रतिनिधि पंकज मिश्र, कारोबारी बच्चू यादव और दाहू यादव मुख्य आरोपी हैं. सूत्रों के अनुसार, ईडी ने इस चार्जशीट में झारखंड के साहिबगंज इलाके में 100 करोड़ से भी ज्यादा के अवैध खनन और मनी लांड्रिंग से जुड़े सबूत दिये हैं. इसमें उनके राजनीतिक कनेक्शन और इस अवैध धंधे में उन्हें मदद करने वाले अफसरों की भूमिका के बारे में भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है. संभावना जताई जा रही है कि इस चार्जशीट में जिन राजनेताओं और अफसरों के नाम आये हैं, ईडी निकट भविष्य में उन्हें भी पूछताछ के लिए बुला सकती है.

ईडी ने अवैध खनन के जरिए मनी लांड्रिंग को साबित करने के लिए साहिबगंज जिले के पहाड़ों और खनन क्षेत्रों की सैटेलाइट मैपिंग भी कराई है. इसमें इसरो के वैज्ञानिकों की भी मदद ली गई. सूत्रों के मुताबिक चार्जशीट में इसका जिक्र किया गया है कि साहिबगंज के इलाकों में अवैध खनन की वजह के कई पहाड़ तक गायब हो चुके हैं. पहाड़ों पर अवैध खनन करके पत्थरों को बेच दिया गया और इसके जरिए करोड़ों रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग की गई.

चार्जशीट में अवैध के किंगपिन के तौर पर सीएम हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा, आरोपी बच्चू यादव और दाहू यादव की भूमिका के बारे में कई तरह के ब्योरे दिये गये हैं. यह भी बताया गया है कि इन तीनों के बीच करीबी रिश्ते रहे हैं. अवैध खनन का पूरा नेटवर्क पंकज मिश्रा के इशारे पर चल रहा था. उसके कहने पर बाहुबली बच्चू यादव और दाहू यादव साहिबगंज इलाके में गंगा किनारे चलने वाले जहाज का टेंडर मैनेज करना और सरकारी अफसरों को डराने का काम करते थे.

गौरतलब है कि ईडी ने अवैध खनन से जुड़े मामले में कार्रवाई करते हुए इसी वर्ष आठ जुलाई को साहिबगंज, बरहेट, राजमहल, मिर्जा चौकी और बड़हरवा में 19 ठिकानों पर छापामारी की थी. इस दौरान 5.34 करोड़ रुपये नगद और कई दस्तावेज बरामद किये गये थे. बाद में आरोपियों के हुए 37 बैंक खातों में जमा 11.87 करोड़ रुपये भी जब्त किये गये थे.

इसके बाद पंकज मिश्र को ईडी ने बीते 19 जुलाई को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था. तब से वह जेल में है. इसी तरह बच्चू यादव को बीते 4 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था, जबकि तीसरा अहम आरोपी दाहू यादव फरार बताया जा रहा है. दाहू यादव को ईडी ने कई बार समन भेजा है, लेकिन वह आज तक हाजिर नहीं हुआ. उसकी तलाश में कई बार छापामारी भी की गई है.

अपने विचारों को साझा करें

संबंधित लेख

लोड हो रहा है...